कहां जबे गा मोर सोन चिरैया, कहां जाबे, पहाड़ देख के मोर मन लागे...ददरिया गीत-

जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से मन्नू लाल एक ददरिया गीत सुना रहे हैं:
कहां जबे, कहां जबे, कहां जबे-
कहां जबे गा मोर सोन चिरैया, कहां जाबे-
पहाड़ देख के मोर मन लागे-
कहां जाबे मोर संगवारी गा-
पानी बरसे झर-झर, झर-झर कहां लुकगे गा-
कहां लुक गे, कहां तै हां लुकबे...

Posted on: Mar 17, 2019. Tags: ANUPPUR BABULAL NETI DADRIYA MP SONG

अपनी दादा की बागो में जाय करो...दादरा गीत-

जिला-शहडोल (मध्यप्रदेश) से मुन्नी बाई एक दादरा गीत सुना रही हैं :
अपनी दादा की बागो में जाय करो-
अपनी मम्मी से गजरा गुहाय करो-
शिव शंकर गले पहनाय करो-
अपनी चाचा के बागो में जाय करो-
अपनी चाची से गजरा गुहाय करो-

Posted on: Mar 10, 2019. Tags: BABULAL NETI MP SHAHDOL SONG

हमें सखी ला डहरिया हो, नंदी लाला की होई गये...विवाह गीत-

जिला-शहडोल (मध्यप्रदेश) से मुन्नी बाई और इंद्रवती एक गीत सुना रहे हैं| ये गीत शादी के मौके पर गाते हैं:
हमें सखी ला डहरिया हो, नंदी लाला की होई गये-
ससुरो हमारी, सुना नई हो, बारिकिया-
मिरकै न दै परोसिया-
नदी लाला की पुजी गये...

Posted on: Mar 10, 2019. Tags: BABULAL NETI MARRIGE MP SHAHDOL SONG

बाला रे बाला ये पारा वाले मीत...गीत-

जिला-शहडोल (मध्यप्रदेश) से मुन्नी बाई एक गीत सुना रही हैं:
बाला रे बाला ये पारा वाले मीत-
साईकल वाले मोर दीवाना बैठाले आगे सीट-
हाय हाय रे करेला कहा से रईहा रे-
नवा सड़क मा दिखथे बीछी-
हाय रे हाय रे करेला अकेला आना दोस...

Posted on: Mar 10, 2019. Tags: BABULAL NETI MP SHAHDOL SONG

यह जीवन है कागज की पुड़िया, हवा चलत उड़ जाना...दादरा गीत-

जिला-शहडोल (मध्यप्रदेश) से मुनिया बाई एक दादरा गीत सुना रही हैं:
यह जीवन है कागज की पुड़िया-
हवा चलत उड़ जाना-
राम कहने में कभी न भुलाना-
जीवन मा नई है ठिकाना-
यह जीवन है नमक का डरिय-
बूंद पड़त घुर जाना...

Posted on: Mar 10, 2019. Tags: BABULAL NETI MP SHAHDOL SONG

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download