देश के खातिर वीरों ने अपनी जान गवाई है...

देश के खातिर वीरों ने अपनी जान गवाई है
बड़े दिनों के बाद मिली हमको यह आज़ादी है
बड़े बड़े वीरों ने देखो अपनी जान को गवाया
बड़े दिनों के बाद हमने देखो यह दिन पाया
भारत के वीर ने आगे बढ़ के गर्दन अपनी कटा दी है
बड़े दिनों कि बाद मिली हमको यह आज़ादी है
अँगरेज़ बोला कि तू इस देश को कैसे चलायेगा
बड़ी समस्या हुई कि अब संविधान कौन बनाएगा
तो बाबा साहेब ने अपनी कलम चला दी है
बड़े दिनों के बाद मिली हमको यह आज़ादी है

Posted on: Oct 26, 2013. Tags: Ashok Shakya