5.6.31 Welcome to CGNet Swara

हम किसान हवन माटी के साथी रे...छत्तीसगढ़ी गीत

अरकूराम निकोड़ेजी ग्राम-दफ्कोटोला, ब्लॉक-अम्बागढ़ चौकी, जिला-राजनांदगांव, छत्तीसगढ़ से छत्तीसगढ़ी में एक गीत गा रहे हैं. गीत में छत्तीसगढ़ के प्राकृतिक सौन्दर्य, विकास तथा संस्कृति को समृद्ध करने के लिए एक अपील है :
हम किसान हवन माटी के साथी रे-
चलो छत्तीसगढ़ ला स्वर्ग बनाबोन –
कतको पर्वत-पहाड़ और नदिया के धार – कतको भर्री-भथाड़, कतको हवे बारानार – कतको सोना-चांदी हवे इहां थाती रे – चलो छत्तीसगढ़ ला...
इहां रंग-रंग के लोग डेरा डारे हवैं-
शुघड छत्तीसगढ़ीन दाईनला सवाँरे हवैं – उड़िया-बिहारी-पंजाबी-गुजराती रे-
चलो छत्तीसगढ़ ला...
बड़े-बड़े कारखाना नहर है दुआरी मा – बड़े-बड़े देवी-देवता के मंदिर जंगल-झाड़ी मा – इहां दिन-रतिया बर थे दिया-बाती रे-
चलो छत्तीसगढ़ ला...
धान-गेहूं-चना ला उपजावत हवैं – चार-तेंदू-महुआ ला शाला पावत हवैं – हमन खाथन अलवा-जलवा-चटनी बासी रे-
चलो छत्तीसगढ़ला...

Posted on: Jan 24, 2015. Tags: Arkuram Nikode

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »