गोंडी की पढ़ाई शुरू हुई हैं पर इस विषय की कोई परीक्षा नहीं होती इसलिए कोई ध्यान नहीं देता...

ग्राम-कोटपारा, तहसील-दुर्गकोंदल, जिला-कांकेर (छत्तीसगढ़) से अशोक नेताम जो गोंडी शिक्षक है उसके पाठ्यक्रम के बारे में बता रहे है कि उनके जिले के तीन ब्लाक दुर्गकोंदल, कोयलीबेडा, अंतागढ़ में गोंडी पाठ हिंदी विषय में समाहित किया गया है और बच्चो को उसके आधार पे शिक्षा दिया जा रहा है मगर इसमें थोडा निराश लग रहा है कि अर्द्ववार्षिक परीक्षा है और परीक्षा में गोंडी के कोई प्रश्न नहीं है या परीक्षा में नहीं दे रहे है चूंकि परिक्षा में यह शामिल नहीं है इसलिए बच्चे भी इस विषय पर ध्यान नहीं देते है और गोंडी को पाठयक्रम में शामिल किया गया है इसे भी कुछ लोग हटाने की प्रयास कर रहे है अगर इसे पाठ्यक्रम में शामिल किये है तो उनको परीक्षा में शामिल करना चाहिए ऐसा उनका कहना है. बस्तीराम@9575256339.

Posted on: Dec 20, 2017. Tags: ASHOK KUMAR NETAM