पर्वत कहता शीश उठा कर, तुम भी ऊँची बन जाओ...कविता

ग्राम-गढ़, पोस्ट-गढ़, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से आराधना गुप्ता एक कविता सुना रही हैं:
पर्वत कहता शीश उठाकर, तुम भी ऊँची बन जाओ-
सागर कहता है लहराकर, मन में गहराई लाओ-
समझ रही हो क्या कहती, उठ-उठ,गिर-गिर,तरर-तरर-
भर लो-भर लो अपने मन में मीठी-मीठी मृदुल उमंग-
पृथ्वी कहती धैर्य न छोडो कितना भी हो सिर पर भार-
मन कहता है फैलो इतना, ढक लो तुम सारा संसार...

Posted on: May 01, 2017. Tags: ARADHNA GUPTA

कितना सुन्दर कितना प्यारा मेरा भारत देश रे, हरी भरी है धरती जिसकी रत्न भरा आकाश रे...गीत

आराधना गुप्ता ग्राम-माउद, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से एक राष्ट्र गीत गा रही हैं :
कितना सुन्दर कितना प्यारा मेरा भारत देश रे-
हरी-भरी है धरती जिसकी रत्न भरा आकाश रे – जन-जन के मन में विकास का हर का नया प्रकाश रे-
अब जिसमे उज्जवल भविष्य का पाया है सन्देश रे...

Posted on: Apr 29, 2017. Tags: ARADHNA GUPTA

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download