मुरा लगी, मुरा लगी, ऐ बांदर कोडा मुरा लगी...कुडुक भाषा में वर्षा गीत

किरतो टोला, पंचायत-बेंदोरा, तहसील-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखण्ड) से सुभाष भगत, अंजना भगत और मीना तिर्की ओरांव आदिवासियों की कुडुक भाषा में एक गीत सुना रहे है, जो वर्षा के आगमन पर गाया जाता है:
मुरा लगी, मुरा लगी-
ऐ बांदर कोडा मुरा लगी-
एवन कोडन कारा प्रेमने दारा-
मडी बा रीरी कोक्टा लगी-
कोडन कारा प्रेमने दारा...

Posted on: Jul 08, 2018. Tags: ANJNA BHAGAT SUBASH BHAGAT URAO SONG