5.6.31 Welcome to CGNet Swara

संस्कृति को बचाना है, सभी का सम्मान करना है सभी को साथ में मिलाकर देश की सेवा करना है...

ग्राम-रौचंद, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से अमित साहू कह रहे हैं, हमें अपने धर्म और संस्कृति को बचाना है, इसके लिए हर हिन्दू के घर में तुलसी और गौ माता रहना चाहिए, आज के समय में खेती ट्रेक्टर से की जाती है, बारिश नही होती है, किसान दाने-दाने के लिए मोहताज है सरकार का ठिकाना नही है 7 किलो चावल भिखारी समझ कर देती है आज के समय में प्रजा कीडे-मकोडे जैसा जीवन जी रही है. वे समाज को संदेश दे रहे हैं कि देश को बचाना है, स्वच्छ रहना है सभी को जीने का अधिकार है, सभी का सम्मान करना है सभी को साथ में मिलकर देश की सेवा करना है |अमित साहू@8964931287.

Posted on: Aug 02, 2018. Tags: AMIT SAHU

जैविक खेती ला अपनाबो घर मा धन, धान ले फसल पाबो...छत्तीसगढ़ी किसान गीत-

ग्राम-रौचंद, भोरमदेव वनांचल, विकासखण्ड-बोड़ला, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से अमित साहू एक छत्तीसगढ़ी गीत सुना रहे हैं :
सुत उठ के दीदी मन करथे बूता काम-
आवत हवै खेती किसानी सचेत रहो किसान-
जैविक खेती ला अपनाबो घर मा धन, धान ले फसल पाबो-
खेती बाड़ी सुघर होही गांव के लगत है बाजार-
नीरव मोदी अइसन पैसा धर के भागत हवै सरकार ले मांगा उधार-
देंगे अब घलो किसान ला काबर नही देही राहत...

Posted on: Aug 02, 2018. Tags: AMIT SAHU

चल चलगा किसान आगे अषाढ़ बोय ला जाबो धान...छत्तीसगढ़ी किसान गीत-

भोरमदेव वनांचल, विकासखण्ड-बोडला, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से अमित साहू एक छत्तीसगढ़ी किसानी गीत सुना रहे हैं :
चल चलगा किसान आगे अषाढ़ बोय ला जाबो धान-
नागर तुतारी बैला संग मा लेके जाबो बीच भार-
जुल मिल के कमाबो रे संगी हो, धरती दाई के सेवा बजाबो न-
खेते के मेढ ला पार ला सुधारबो, खातू कचरा ला अऊ बगराबो-
धान के थरहा डोली मा देबो, गाय बर बो बो अऊ चारा...

Posted on: Jul 26, 2018. Tags: AMIT SAHU SONG

चले चलगा किसान आगे आषाढ़ बोयेला धान जाबो...छत्तीसगढ़ी किसान गीत-

भोरमदेव वनांचल, विकासखण्ड-बोड़ला, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से अमित साहू एक छत्तीसगढ़ी किसान गीत सुना रहे हैं:
चले चलगा किसान आगे आषाढ़ बोयेला धान जाबो-
नागर बईला सारी संग मा बीज घलो धर के जाबो-
जुर मिल कमाबो रे संगी मोर, धरती के सेवा में लग जाबो-
कांटा खूटी ला बिनबो हमन हां, बेड़े पार ला सुग्घर सुधारबो-
धने के थरहा लगाए के करहो तैयारी, गोबर खाद बिछाबो खेत में-
चले चल गा किसान आगे आषाढ़ बोये ला धान जाबो...

Posted on: Jun 21, 2018. Tags: AMIT SAHU

स्वास्थ्य स्वर: अमरबेल से खुजली का उपचार -

भोरमदेव वनांचल, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से वैद्य अमित साहू आज हम लोगो को शरीर मेंखुजली की समस्या का एक घरेलू उपचार बता रहे है, सामग्री : अमरबेल, आमतौर पर कहीं भी पाई जाती है जो पेड़ के ऊपर बेल की तरह छाई रहती है, पीले रंग की होती है कही भी मिल जाती है, उसको पत्थर से बारीक़ पीस ले, उसके बाद जहा पर खुजली होती है उस स्थान पर लेप करे, तीन दिनों तक लगातार लेप करने से पुराने से पुराना खुजली से आराम मिलता है. परहेज साबुन, तेल, का इस्तेमाल न करे, तथा गर्म भोजन का प्रयोग ना करे. अधिक जानकारी के लिए संपर्क करे. अमित साहू@8964931287.

Posted on: Jun 12, 2018. Tags: AMIT SAHU

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »