5.6.31 Welcome to CGNet Swara

हम सब सुमन एक उपवन के, एक हमारी धरती सब की...दोहा

ग्राम-केरकेटा, पोस्ट-जोगा, थाना-उटारी रोड, जिला-पलामू (मध्यप्रदेश) से अखलेश कुसवाहा एक दोहा सुना रहे है:
हम सब सुमन एक उपवन के, एक हमारी धरती सब की-
जिसकी मिटटी में जन्मे हम, मिली हम एक ही धूप हमें है-
जिनके गये अब जल से हम पले हुये है झूम-झूमकर-
पन्नो में हम एक पवन के, हम सुमन एक उपवन के-
हम सुमन एक उपवन के, रंग रंग के रूप हमारे-
हम सब सुमन एक उपवन के, एक हमारी धरती सब की...

Posted on: Aug 01, 2018. Tags: AKHLESH KUSHWAHA POEM

हम शिवमन एक उपवन के, एक हमारी धरती सबकी...कविता

ग्राम-करकेटा, पोस्ट-जोगा, थाना-उटारी रोड, जिला-पलामू (झारखण्ड) से अखिलेश कुशवाहा एक कविता सुना रहे है:
हम शिवमन एक उपवन के एक हमारी धरती सबकी-
जिसकी मिटटी में जन्मे हम मिली एक ही धुप हमे है-
सिंचे गए एक जल से हम पले हुए है झूल झूलकर-
पल्लों में हम एक पवन के हम शिवमन एक उपवन के-
रंग-रंग के रूप हमारे अलग अलग है क्यारी क्यारी-
लेकिन हम सबसे मिल कर ही उस उपवन की शोभा सारी-
एक हमारा माली हम सब रहते नीचे एक गगन के-
हम सब शिवमन एक उपवन के सूरज एक हमारा-
जिसकी किरणे उसकी कली खिलाती एक हमारा चाँद-
चांदनी जिसकी किरणे हमे नेहलाती मिले एक से-
स्वर हमको है भौरों के मीठे गूंजन के-
हम सब शिवमन एक उपवन के-
काटो में मिलकर हम सब ने हंस हंस जीना सीखा-
एक सूत्र में बंधकर हमने हार गले के बनना सीखा...

Posted on: Jul 13, 2018. Tags: AKHLESH KUSHWAH POEM

सुन्दर और सजीला आम...बाल कविता

ग्राम-करकेटा पोस्ट-जोगा, थाना-उटारी रोड, जिला-पलामू (झारखण्ड) से अखिलेश कुशवाहा एक बाल कविता सुना रहे है:
सुन्दर और सजीला आम-
कितनी रंग रगीला आम-
सबके मन को भाता आम-
सबका जी ललचाता आम-
जिसने सूरज चाँद बनाया-
जिसने तारो को चमकाया-
जिसने बागो को महकाया-
जिसने सारा जगत बनाया-
आओ हम उनके गीत गुनगुनाये-
उसे प्रेम से शीश झुकाए...

Posted on: Jul 07, 2018. Tags: AKHLESH KUSHWAH KAVITA

देखो कोयल काली है पर मीठी है इसकी बोली...बाल कविता

ग्राम-करकेटा, पोस्ट-जोगा, थाना-उटारी रोड, जिला-पलामू (झारखण्ड) से अखलेश कुशवाह एक बाल कविता सुना रहे है:
देखो कोयल काली है पर मीठी है इसकी बोली-
इसने ही तो कुक-कुक कर आमो में मीठी बोली-
कोयल-कोयल शब्द सुनाओ क्या संदेशा लाइ हो-
बहुत दिनों के बाद फिर इस डाली पर आई हो-
क्या गाती हो किसे बुलाती हो बतला दो कोयल रानी...

Posted on: Oct 09, 2017. Tags: AKHLESH KUSHWAHA

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »