5.6.31 Welcome to CGNet Swara

हरे भरे खेतो में देखो, कैसा तनकर खड़ा बिज्जुका...कविता

ग्राम-करकेटा, पोस्ट-जोगा, थाना-उटारी रोड़, जिला-पलामू (झारखंड) से अखिलेश कुशवाह एक कविता सुना रहे हैं:
हरे भरे खेतो में देखो कैसा तनकर खड़ा बिज्जुका-
सिर पर काली वाली हाड़ी है चुने का टिक्का-
कुर्ता टीला फटा चिथडा तनिक ना इसे सलीका-
हांथ पांव लकड़ी के इसके पर मन का है कड़ा बिज्जुका-
देख बिज्जुकी मिल गाए भैस और साड़ भड़कते – पास ना फटे कोई पक्षी सूरत देख हडकते...

Posted on: Feb 11, 2018. Tags: AKHILESH KUSWAHA

बाबूजी से बाबू कहे लाई दे फुलटनिया...बाल गीत -

ग्राम-कर्कटा, पोस्ट-जोगा, जिला-पलामू, (झारखण्ड) से अखिलेश कुशवाहा एक गीत सुना रहे है:
बाबूजी से बाबू कहे लाई दे फुलटनिया-
करी के भोजनिया सोम वारवे से स्कूल जाईब-
बाबूजी से बाबू कहे लाई दे कलम कोपिया-
करी के भोजनिया सोमवारवे से स्कूल जाईब-
बाबूजी से बाबू कहे लाई दे बैगवा-
बाबूजी से बाबू कहे लिखवाई दे नामवा-
करी के भोजनिया सोमवारवे से स्कूल जाईब...

Posted on: Dec 23, 2017. Tags: AKHILESH KUSWAHA

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »