5.6.31 Welcome to CGNet Swara

बरिसो रे कारी बदरिया बरिसो रे कारी बदरिया रे पानी...बारिश गीत -

आश्रित ग्राम -तिगावल, पंचातय-मालम, प्रखंड-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखंड) से प्रभुप्रकाश लकड़ा एक बारिश गीत सुना रहे हैं:
बरिसो रे कारी बदरिया बरिसो रे कारी बदरिया रे पानी-
कबिलम करे बरिसो रे कारी बदरिया पानी-
मोरा लागे मोरा लागे बन्दरे कोड़ा मोरा लागे
कबिलम करे बरिसो रे कारी बदरिया पानी-
मोरा लागे मोरा लागे बन्दरे कोड़ा मोरा लागे
बरिसो रे कारी बदरिया बरिसो रे कारी बदरिया ग्राम रे पानी...

Posted on: Jul 19, 2018. Tags: PRABHU PRAKASH LAKDA SONG

हमारे गाँव का नाम तिगावल कैसे पड़ा : एक गाँव की कहानी...

ग्राम-तिगावल, पंचायत-मालम, प्रखण्ड-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखण्ड) से प्रभु प्रकाश लकड़ा और सोदा मुंडा उनके गांव का नाम तिगावल कैसे पड़ा उसके बारे में जानकारी बता रहे है. उनके पूर्वजो से प्राप्त जानकारी के अनुसार उनके गांव में पहले बंदर (तिगा) हुआ करते थे, जिससे लोग परेशान थे| जो खेती की फसल को बहुत नुकसान करते थे, उसे सभी लोग भगाने जाते थे, वे लोग बंदर को तिगा कहते हैं और भगाने को तिगाना कहते हैं, उसी के ऊपर आधारित गांव का नाम तिगावल रखा गया, और आज भी इसी नाम से जाना जाता है, ये जानकारी उन्हें अपने पूर्वजो से मिली है | अंकित पडवार@8987776097.

Posted on: Jul 14, 2018. Tags: PRABHU PRAKASH LAKDA SODA MUNDA

हायरे हाय दिला में ख़ुशी के फूला...ग्रामसभा पर गीत

ग्राम-तिगावल, पंचायत-मालम, प्रखंड-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखंड) से प्रभुप्रकाश लकड़ा ग्राम सभा से सम्बंधित एक गीत सुना रहे है:
हायरे हाय दिला में ख़ुशी के फूला-
डारी-डारी घुमा-घुमा बोले रे मैना-
देखो रे ग्राम सभा अभियान आये गेलक-
गांव घर में ग्राम सभा अभियान आये गेलक-
देखो रे ग्राम सभा अभियान आये गेलक-
हायरे हाय दिला में ख़ुशी के फूला...

Posted on: Jul 10, 2018. Tags: PRABHU PRAKASH LAKDA SONG

सुना-सुना दीदी सुना मोरे भैया, cgnet में गोठीयाई लिहा न...गीत-

देवप्रकाश सिह, ग्राम-लांजित, विकसखंड-ओडगी, जिला-सूरजपुर (छतीसगढ़) से एक छतीसगढ़ी गीत सुना रहे है :
सुना-सुना दीदी सुना मोरे भैया, cgnet में गोठीयाई लिहा न-
रिकॉर्ड कराय दिहा न समस्या बताय दिहा न-
सुना सुना दीदी सुना मोर भैया-
cgnet के नंबर हवे 08050068000 न-
नंबर दबाय दिहा न रिकॉर्ड कराय दिहा रे-
कठिन समस्या दीदी मोर बड़ा भारी, एक बीता बचे न भुईयां बाकी सरकारी

Posted on: Jun 09, 2018. Tags: DEVPRAKASH SINGH

नशा न करना मानलो कहना...नशा विरोधी गीत

ग्राम-मंगरोड़, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से जयप्रकाश एक नशा विरोधी गीत सुना रहे है:
नशा न करना मानलो कहना-
सुन लो भैया बहनी होगी बड़ी खराबी-
दारू न पीना भैया पागल फिरोगे बीच बाज़ार में-
भूखे मर ही बच्चा बीबी रही इंतजार में-
बिकेगा गहना फिर का कहना जीते जी मर जाना-
गुटखा न खा भैया छाला पड़े ही गोरे गाल मा-
रोवे ही बाबु अम्मा घरवा मा रहिया परेशान मा...

Posted on: Jun 08, 2018. Tags: JAYPRAKASH REWA

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »