राज्यों का प्राचीन नामो कि जानकारी......

जिला-राजनंदगाँव (छत्तीसगढ़) से बिरेन्द्र गन्धर्व आज हमारे सीजीनेट सुनने वाले श्रोताओं को कुछ राज्यों का प्राचीन नाम बता रहे हैं : (1) छत्तीसगढ़ का प्राचीन नाम था दक्षिण घोषण, रायपुर जो आज राजधानी है छत्तीसगढ़ का उसका प्राचीन नाम था कंचनपुर (2) बिहार, बिहार का प्राचीन नाम था मघर, जो इसका राजधानी है पटना, पटना का प्राचीन नाम था पाटलिपुत्र (3) इसी पप्रकार भोपाल जो मध्यप्रदेश कि राजधानी है पहले भोजपाल कहलाता था राजा भोज के कारण (4) उज्जैन, उज्जैन का प्राचीन नाम था अवन्तिका: सम्पर्क नम्बर @ 9098921436 CS

Posted on: Jul 08, 2020. Tags: (NRAYNPUR) BIRENDR GANDHARV RAJNANDGAON CG SONG VICTIMS REGISTER

हम सब बच्चे भारत वासी, अपना भारत बड़ा महान-कविता सुना रहें है...

संदीप कुमार कुशवाहा जिला सतना मध्यप्रदेश से कविता सुना रहें है |
हम सब बच्चे भारत वासी, अपना भारत बड़ा महान |
इच्छा है बस मन में इतनी, हो भारत की ऊँची शान ||
मात पिता और गूरुओ का ,करते राहें सादा सामान |
सच्चाई को कभी ना छोड़ो, ऐसा वर दो हे भगवान ||
जय हिंद जय भारत ...

Posted on: Jul 05, 2020. Tags: (NRAYNPUR) KUMAR KUUSWAHA POEM SANDEEP SATNA SONG VICTIMS REGISTER

Impact: राशन नही थी खाने में समस्या थी, अब खाने का व्यवस्था हो गया है...

ग्राम पंचायत-अकरेरा, जनपद-जवा, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से कमला कांत यादव बता रहे हैं आज देश में लॉक डाउन की तारीख बढ़ाकर 3 मई कर दी गयी है, जो देश हित में हैं, लेकिन गाँव में जो लोग मजदूरी कर जीवन यापन करते हैं, लेकिन लॉक डाउन के कारण घर में रह रहे हैं, जिसके कारण परिवार को चलाने के लिये जो संसाधन की जरुरत होती है, नहीं मिल रही है, पंचायतो में राशन वितरण नहीं हो पा रहा है इसलिये उन्हें समस्याओं का सामना करना पड़ता है, भोजन नहीं मिल पा रहा है इसलिये वे सीजीनेट के माध्यम से सरकार से मदद की अपील किया| और कुछ दिनों बाद उन्हें खाने का राशन मिल गया है| वे सभी मददगार साथियों को धन्यवाद दे रहे हैं: नंबर@9424787024.

Posted on: May 18, 2020. Tags: (NRAYNPUR) CORONA IMPACT MP REWA SONG VICTIMS REGISTER

IMPACT: राशन कार्ड बन जाने से सरकारी योजना का लाभ उठा रहे है...

ग्राम-बोरपाल, जिला-नारायणपुर (छत्तीसगढ़) से रंजीत कुमार बता रहे हैं की बैजू राम दुग्गा का शौचालय और राशन कार्ड नहीं बना था जिसके लिया पंचायत में आवेदन किया था लेकिन अधिकारी कर्मचरी ध्यान नहीं दे रहे थे इसके बाद हमने सीजीनेट सुनने वाले साथियों से मदद की अपील की और सुनने वाले साथियों से सहयोग से हमारा राशन कार्ड बन गया है अब सरकारी योजनाओं का लाभ ले सकेंगे, इसलिये सीजीनेट सुनने वाले सभी साथियों और मदद करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों को धन्यवाद दे रहे हैं:

Posted on: Dec 21, 2019. Tags: (NRAYNPUR) CG RAJIT KUMAR RATION CARD PROBLEM SONG VICTIMS REGISTER