जो खुद ही खुद पर भारी है उसे क्या मारे महामारी है...पंक्तियाँ

जिला-राजनांदगांव (छत्तीसगढ़) से बिरेन्द्र गंधर्व कुछ पंक्तियाँ सुना रहे हैं:
खुद ही खुद पर भारी बन-
चाकू छूरी कटारी बन-
खुद ही खुद पर भारी बन-
जो खुद ही खुद पर भारी है-
उसे क्या मारे महामारी है-
रखो भरोसा सदा सलोना-
एक दिन जायेगा करोना...(AR)

Posted on: Apr 15, 2021. Tags: BIRENDRA GANDHARV CG PANKTIYAN RAJNANDGAON

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


YouTube Channel




Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download