नानी खाये लाल अनार...कविता-

रायपुर (छत्तीसगढ़) से अनमोल कुमार चंद्राकर एक कविता सुना रहे हैं:
नानी खाये लाल अनार-
चूसे आम पकर के साथ-
लडकी गाती बढ़िया गाना-
रखे सरौता सुनते नाना-
मोनू का चल रहा जहाज-
कमल खिले हैं सुंदर आज...(AR)

Posted on: Apr 07, 2021. Tags: ANMOL KUMAR CG CHANDRAKAR POEM RAIPUR