स्वास्थ्य स्वर : दंती का औषधि प्रयोग-

ग्राम-रनई, थाना-पटना, जिला-कोरिया छत्तीसगढ़ से वैद्य केदारनाथ पटेल आज हम लोगो को वन औषधि द्वारा दंती का औषधि प्रयोग बता रहे है, दंती के बीज जमालगोटे के सामान तीव्र चेचक होते है | अधिक मात्रा में लेने पर ये प्राण घातक भी हो जानते है | इसके बीज उतेजक और चरम दाहक पदार्थ की तरह भी काम में लिये जाते है | संधिवाद के लिये इसकी छाल बहुत उपयोगी होती है | इसके बीज बहुत कम मात्रा में लेवे | 2-3 प्रति से ज्यादा न लेवे | 2 शतलज के पूर्व में इसके पत्ते घाव को दुरुस्त करने के काम में लिये जाते है | इसके पत्ते घाव को भरने के लिये भी उपयोग किया जाता है | इसका रस लोहे को गलाने के काम में भी आता है | पीलिया में भी इसका जड़ बहुत उपयोगी होता है | इसके पत्ते काड़ा दमे के बीमारी में भी अत्यंत लाभदायक है | संपर्क@9826040015.

Posted on: Jan 12, 2021. Tags: HEALTH DEPARTMENT