स्वाथ्य स्वर भंग से ठीक होने वाले बीमारी के बारे में बता रहें है...

बैध केदर नाथ पटेल ग्राम रनई थाना पटना जिला कोरिया छत्तीसगढ़ से वनों ओषधि द्वारा भंग को उपयोग करने का उपाये बता रहें है|धन वास्तम का रोग जो कुबड़ा हो जाते है जिसका कमर झुक जाता है उसे धन वास्तम रोग कहते है इसका उपयोग एक ग्राम भंग का धुँआ पिलाने से धीरे धीरे आक्षेप का रोग छुट जाता है इसका धुँआ इतनी कारगत दावा है पंद्रह से बीस दिन में ये बीमारी ठीक हो जाता है 125 मिली ग्राम घी में सेंकें हुये भंग को 2 ग्राम काली मिर्ची और 2 ग्राम मिस्री मिलाकर दिन में तीन चार बार सेवन करने से धनवास्तम के बीमारी से लाभ होता है | सनाई पीड़ा में तीप्त श्रोध्द है और एक प्रकार से मुंह में होता है आस पास फैलती जाती है भंग को फीस कर लेप करना चाहिए इससे सनाई पीड़ा का रोग दूर होता है| संपर्क न.@9826040015 (JP)170724

Posted on: Jul 05, 2020. Tags: ) BAIDH CG JILA KEDERNATH KORIYA PATEL SWASTHYA SWARA