क्या मिलता है जी शराब से...गीत-

राजनांदगांव (छत्तीसगढ़) से वीरेंद्र गंधर्व एक गीत सुना रहे हैं:
मुनिया ने पूछा अपने बाप से, क्या मिलता है जी शराब से-
जितना कमाते हो रोज तुम, कर देते हो इसमें रोज ग़ुम-
भरते हो घर को संताप से, क्या मिलता है जी शराब से-
खाने के लाले पड़े हैं, कई कर्ज वाले खड़े हैं-
दूर किया मुझको किताब से, क्या मिलता है जी शराब से-
माँ की आँखों में है पानी, अर्थहीन है ज़िन्दगानी-
सवाल कभी किया कभी आपसे, क्या मिलता है जी शराब से...

Posted on: Feb 03, 2020. Tags: CG RAJNANDGAON SONG VIRENDRA GANDHARV