स्वास्थ्य स्वर : बवासीर, ख़ूनी बादी घरेलू उपचार...

जिला-मुंगेली (छत्तीसगढ़) से वैद्य रमाकांत सोनी बवासीर ख़ूनी हो या बादी के घरेलू उपचार बता रहे है, बवासीर 2 प्रकार की होती है। आम भाषा में इसको ख़ूँनी और बादी बवासीर के नाम से जाना जाता है। कही पर इसे महेशी के नाम से जाना जाता है. नुस्ख़े की उपचार सामग्री-50 ग्राम नीम का तेल, 5 ग्राम सुहागा, 5 ग्राम फिटकरी, दोनों का मिश्रण बनाकर नीम के तेल के साथ लेप बनाकर लगावें| इसका प्रयोग करने से ख़ूनी बवासीर बादी दोनों में प्रभावशाली रहता है. अधिक जानकारी के लिए सम्पर्क करें. रमाकांत सोनी@9589906028.

Posted on: Nov 26, 2019. Tags: HEALTH MUNGELI CG RAMAKANT SONI