जब गुलाब का फूल बनूंगा...बाल कविता-

ग्राम-कुई, तहसील-पंडरिया, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से रूद्र गौतम बाल कविता सुना रहे हैं :
जब गुलाब का फूल बनूंगा-
मधुर-मधुर सा मुस्काऊंगा-
जो पास मेरे तितली आये-
उसको अपना दर्द सुनाऊंगा...

Posted on: Aug 07, 2019. Tags: CG KABIRDHAM POEM PURNIMA SAHU

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download