मेरा एक सवाल...कविता-

ग्राम-सिंगपुर, तहसील-पंडरिया, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से स्वेता कुमारी एक कविता सुना रही है :
एक चौपाल है वहां पर कुछ लोग बैठे हैं-
तभी गीत की आवाज उमड़ रही है-
चूं चूं,चूं चूं चिड़िया चहकी-
मह मह, मह मह खुशिया महकी-
पर्वत पिता ने लाली खोली-
भारत माता बेटो से बोली...

Posted on: Jul 20, 2019. Tags: CG KABIRDHAM POEM SWETA KUMARI