स्वास्थ्य स्वर: फोरा, घाउ, जख्म के लिए मलहम बनाने का घरेलू उपचार

प्रयाग विहार, मोतीनगर, रायपुर (छत्तीसगढ़) से वैद्य एच डी गांधी फोरा, घाउ, जख्म के लिए मलहम बनाने का घरेलू उपचार बता रहे हैं| नारयल की गीड़ि(खोपडा)- 1 नग, इमली के बीज के छल का चूर्ण- 20 ग्राम| नारयल के गीड़ि को पीस करके बारीक़ कर ले, इसमें इमली के पाउडर को मिला दे, और घुटनी से 1 घंटे तक खलल करे तब तक तेल जैसा आ जाये | इसको डब्बी में भर दे | पहले घाव को नीम का उबला पानी से धोये, इसके बाद ही ये मलहम को दिन में 3-4 बार लगाए| अगर शुगर का मरीज है तोह शुगर का जाँच करा ले, शुगर कण्ट्रोल होने पे ही ये काम करेगा| परहेज- चन्ना, मटर, मसूर, उरद, क्यूरा की दाल का प्रयोग न करे|अधिक जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं: एच डी गांधी@9111061399.

Posted on: May 20, 2019. Tags: CG HD GANDHI HEALTH RAIPUR