ऊपर पंखा चलता है, नीचे मामा सोता है...कविता-

ग्राम-दरभागुडा, विकासखण्ड-कोंटा, जिला-सुकमा (छत्तीसगढ़) से आरती, मधू, गीता और प्रीती एक कविता सुना रहे हैं :
ऊपर पंखा चलता है, नीचे मामा सोता है-
सोते-सोते भूख लगी खालो बेटा मुगफली-
मुगफली में दाना नहीं हम तुम्हारे मामा नहीं-
मामा गये दिल्ली, दिल्ली से लाये संतरा-
संतरा बहोत खट्टा, मामा के चड्डी पट्टा...

Posted on: May 13, 2019. Tags: BHOLA BAGHEL CG POEM SUKMA

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download