मेरे अनुसार से माओवाद से बातचीत कर उनकी मांगे को पूरा करने से ही हिंसा कम या खत्म क्या जा सकता हैं...

उपेन्द्र पांडे आमाबाद जिला-बस्तर (छत्तीसगढ़) से बस्तर मांगे हिंसा से आजादी जनमत सर्वेक्षण में अपनी विचार बता रहें हैं की ये जो राजनीतिक हो सबसे बड़ा कारण है इस हिंसा को बढाने में मेरे राय के अनुसार कोई भी राजनीति पार्टी इस हिंसा को ख़त्म करना नही चाहते| सब उसे बढ़ावा देते हैं, राजनीति ही नही होगी तो कही न कही आमोवादी हिंसा कम या ख़त्म हो सकती है बातचीत कर या उनकी जो मांगे है उसे पूरा करे तो किसी प्रकार की कोई हिंसा होने की संभावना ही नही बनती है.

Posted on: Sep 28, 2020. Tags: PEACE SURVEY HINDI 3

रख आज मोरा लाज गणपति...गणपति भजन-

ग्राम-बरौतीकला, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से दयासागर कुशवाहा एक गणपति भजन सुना रहें हैं-
रख आज मोरा लाज गणपति-
अपनी शरण में दीजिये-
कर आज मंगल गणपति-
अपनी कृपा अब कीजिये-
रख आज मोरा लाज गणपति...RK

Posted on: Sep 28, 2020. Tags: HINDI SONG

मेरे अनुसार से और अब हिंसा को कम करना चाहिए...

युवा साथी अपने नाम पता परिचय देने में असमर्थ रहें लेकिन बता रहें हैं ये जो बस्तर मांगे हिंसा से आजादी जनमत सर्वेक्षण के विषय पर विचार व्यक्त का रहें हैं की जो राजनीतिक तथा माओवाद और पुलिसकर्मियों के मध्य हो रही आम जनता के ऊपर हो रहीं हिंसा को राजनीतिक पुलिसकर्मी के माध्यम से नही बल्कि किसी विशेष मंच पर मिले और आपसी कर इस हिंसा को कम करना चाहिए है. RK

Posted on: Sep 28, 2020. Tags: PEACE SURVEY HINDI 2

स्वास्थ्य स्वर : मुंह में छाले होने पर घरेलू उपचार...

जिला-टीकमगढ़ (मध्यप्रदेश) से वैद्य राघवेंद्र सिंह राय मुह में छाले हो जाने पर घरेलू उपचार बता रहे हैं| चमेली के 5 पत्ते मुह में लेकर चबायें और थूकते रहें, जब तक उसका रस निकलता है| ये प्रकृया 4 दिन तक करना है| यदि चमेली का पत्ता न मिले तब अमरुद या जामफल के पत्ते का भी उपयोग किया जा सकता है| संबंधित विषय पर जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं| संपर्क नंबर@7007590143. (AR)

Posted on: Sep 28, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

डिज़ावल क्षेत्र में हांथियो के झुण्ड के आने की जानकारी...

ग्राम, पोस्ट-डिज़ावल, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से सुखसागर पावले बता रहे हैं उनके इलाके में हांथियो का आतंक है, हांथियो की संख्या लगभग 20 है जो इलाके में झुण्ड बनाकर घूम रहे हैं इसलिये निवासी सतर्क रहे हैं| अभी धान की खेती है, जिसके कारण हांथी खेतो के तरफ आकर्षित हो रहे हैं| 28 सितंबर 2020 को हांथीयों का झुण्ड डिज़ावल में आया और भोर में जंगल के तरफ जा चुके हैं| यदि कोई इलाके में रात को आना जाना करता है तो सतर्क रहें, रात को आना जाना न करें तो अच्छा रहेगा| (AR)

Posted on: Sep 28, 2020. Tags: STORY

View Older Reports »